सी.जी.सिटी (चक गंजरिया)

We Welcome You at
Chak Ganjaria, A New Township

The Uttar Pradesh Government, in its forward
looking vision, has proposed to build
a new township in the Gomti Nagar Extension area.

Mithliya Multipurpose PSD Template

Nestled amongst other privately developed housings and institutions, the Lucknow - Sultanpur

National Highway 56 cuts across the site almost at its center. Its prime urban location demanded a sensitive approach.

सी.जी.सिटी (चक गंजरिया)

सी.जी. सिटी (चक गंजरिया) परियोजना लखनऊ-सुल्तानपुर-वाराणसी राष्ट्रीय राजमार्ग (एन.एच.-56) पर लगभग 807.84 एकड़ (पुर्नरीक्षित क्षेत्रफल) पर प्रस्तावित है, जिसमें जनउपयोगी यथा आईटी सिटी, आई.आई.आई.टी., मेडी सिटी, सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल, आधुनिक डेयरी प्लान्ट प्रषासनिक प्रषिाक्षण अकादमी, मल्टी स्टोरी आवासीय टाउनशिप तथा हरित पट्टी युक्त अत्याधुनिक अवस्थापना सुविधाएं विकसित किये जाने का प्रस्ताव है।

Chief Minister of Uttar Pradesh

Mithiliya Mutlipurpose PSD Theme

सी.जी.सिटी परियोजना की लागत एवं आय विवरण

  • परियोजना में अवस्थाना सुविधाओं के विकास हेतु डी.पी.आर. उच्चस्तरीय समिति (एच.एल.सी.) द्वारा अनुमोदित की गयी है। परियोजना में अवस्थापना सुविधाओं के विकास, प्राधिकरण को हस्तान्तरित भूमि की लागत एवं अन्य प्रषासनिक, विविध व्ययों को सम्मिलित करते हुए रू0 2079.80 करोड़ परियोजना की लागत तथा 7 वर्ष का होराइजन निर्धारित करते हुए विकसित सम्पत्तियों से रू0 3211.00 करोड़ राजस्व आय अनुमानित है।

  • परियोजना में मई 2015 तक रू0 6606.14 लाख का व्यय प्राधिकरण स्त्रोत से किया जा चुका है।

  • परियोजना के विकास कार्य को पूर्ण करने की अवधि जुलाई 2016 है।


मा0 मुख्यमंत्री, उ0प्र0 शासन के द्वारा चक गंजरिया में दिनांक 23 नवम्बर, 2013 को मेडीसिटी, दिनांक 25 फरवरी 2014 को सी.जी. सिटी, ए.टी.आई., अमूल डेयरी प्लान्ट तथा दिनांक 15 अक्टूबर, 2014 को आई.टी. सिटी एवं आई.आई.आई.टी. परियोजनाओं के षिलान्यास सम्पन्न हो चुके है।
  • मुख्य सचिव उ.प्र. के शासनादेश सं0 895/आठ-1-13 -40विविध/13 दि0 09.04.13 द्वारा परियोजना की प्रशासकीय स्वीकृति एवं कार्य योजना निर्धारित की गयी है।

  • चक गंजरिया परियोजना में आधारभूत कार्यो के निर्माण/विकास हेतु ल0वि0प्रा0 कार्यदायी संस्था नामित है।

  • सी.जी. सिटी का संशोधित ले-आउट दि0 25.10.2013 को एच.एल.सी. द्वारा अनुमोदित किया गया है तथा प्राधिकरण को हस्तान्तरित भूमि का आन्तरिक लेआउट प्लान दि0 11.06.14 को प्राधिकरण बोर्ड द्वारा स्वीकृत किया गया है। पुनः खसरा संख्या 279 ख मस्तेमऊ की 37.72 एकड़ दीगर बंजर भूमि को पृथक करते हुये आन्तरिक ले-आउट में संशोधन किया गया है।

  • उ.प्र. प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा दि0 20.05.14 एवं पर्यावरण विभाग द्वारा दि0 27.05.14 को परियोजना के जोनल विकास एवं ले-आउट हेतु पर्यायवर्णीय अनापत्ति ली गयी है। खसरा संख्या- 279 ख को पृथक किये जाने के पश्चात रिवाईज्ड एवं एन.ओ.सी0 के लिये पर्यावरण विभाग को सुचित कर दिया गया है।